xz

हाई ब्लड प्रेशर: नए मानक



अब खून भी रगों में
सुपरफास्ट हो गया है,
सिस्टोलिक 130
और डायस्टोलिक 80 भी
पार कर गया है।
ये मैं नहीं कहती
एएचए व एसीसी की
गाइड लाइन है:
अगर ज़िन्दगी प्यारी है
तो नमक का इस्तेमाल कम करिए,
न खुद के लिए
न औरों के जख्मों पर छिड़किये;
चटनी-अचार के चटखारे न लगाइये
तेल के कुवें से बाहर आइये;
घड़ी देखकर सोइये,
अलार्म पर उठ जाइये;
सुबह-शाम पार्क जाकर
खूबसूरत चेहरों का
दीदार करिए;
जरा सी बात पर
बाजू वाले का मुंह मत तकिये,
परिश्रम कीजिए
और स्वस्थ बने रहिये;
फिर भी रफ्तार तेज हो
खून की रगों में
तो गोलियां खाइये;
अरे बाबा,
तनाव में मत आइये
अपना दिल और गुर्दा बचाइए;
सुकून एक स्पीड-ब्रेकर है
रक्त-ए-रफ्तार का
खुशी को अपना सहचर बनाइये
और मुस्कराइए;
आबो-हवा खराब हो चली है बहुत ही
मुस्कराने को लखनऊ तो
हरगिज न जाइये।
Post a Comment

मेरी पहली पुस्तक

http://www.bookbazooka.com/book-store/badalte-rishto-ka-samikaran-by-roli-abhilasha.php